Daily News

स्टार्टअप इकोसिस्टम रिपोर्ट

05 Jul, 2022

चर्चा में क्यों ?

  • हाल ही में उद्योग संवर्धन और आंतरिक विभाग (डीपीआइआइटी) की तरफ से जारी स्टार्टअप इकोसिस्टम की रिपोर्ट में गुजरात और कर्नाटक सबसे आगे उभर कर सामने आए हैं। उत्तराखंड, उप्र, पंजाब, असम, तमिलनाडु जैसे राज्य लीडर श्रेणी के विजेता रहे।

मुख्य बिंदु :-

  • स्टार्टअप के प्रदर्शन को लेकर पांच श्रेणी में रैंकिंग की गई थी। इनमें-
  1. सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन,
  2. टाप प्रदर्शन देने वाले,
  3. लीडर्स,
  4. आकांक्षी लीडर्स और
  5. उभरते स्टार्टअप इकोसिस्टम शामिल था।
  • स्टार्टअप से जुड़े सात प्रकार के सुधार क्षेत्र का सर्वे किया गया। 
  • डीपीआइआइटी की रिपोर्ट के अनुसार गुजरात और कर्नाटक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वाली श्रेणी के विजेता रहे। टाप परफार्मर्स या उम्दा प्रदर्शन वाले राज्यों में केरल, महाराष्ट्र, ओडिशा, तेलंगाना विजेता घोषित किए गए।
  • वहीं आकांक्षी लीडर्स राज्य के रूप में छत्तीसगढ़, दिल्ली, मध्य प्रदेश, राजस्थान का चयन किया गया। उभरते हुए स्टार्टअप इकोसिस्टम श्रेणी में आंध्र प्रदेश और बिहार का चयन किया गया। एक करोड़ से कम आबादी वाले छोटे राज्यों में मेघालय सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शनकारी राज्य घोषित किया गया।
  • डीपीआइआइटी के अनुसार इस प्रकार की सर्वे रिपोर्ट से राज्यों के बीच स्टार्टअप इकोसिस्टम के प्रोत्साहन को लेकर प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी। देश के सभी जिलों में स्टार्टअप शुरू करने के लिए माहौल बनाया जा रहा है।
  • सर्वे रिपोर्ट तैयार करने में राज्यों में स्टार्टअप के लिए संस्थागत सहायता, इनोवेशन प्रोत्साहन, बाजार की पहुंच, इनक्युबेशन मदद, फंडिंग सहायता जैसी चीजों का आकलन किया गया।
  • पिछले तीन सालों से इस प्रकार की सर्वे रिपोर्ट जारी की जा रही है और लगातार तीन बार से गुजरात स्टार्टअप इकोसिस्टम में अव्वल घोषित हो रहा है।
  • इस सर्वे रिपोर्ट में 24 राज्य और सात केंद्रशासित प्रदेशों ने हिस्सा लिया। 

भारत में अब तक 103 यूनिकार्न की स्थापना

  • स्टार्टअप प्रोत्साहन के लिए सरकार की तरफ से की जा रही कवायद से भारत में अब तक 103 यूनिकार्न की स्थापना हो चुकी है। हाल ही में फ्रांस में आयोजित स्टार्टअप कार्यक्रम वीवाटेक 2022 में भारत को कंट्री आफ द ईयर के सम्मान से नवाजा गया।
  • एक अरब डालर मूल्य वाले यूनिकार्न की स्थापना में भारत अब सिर्फ अमेरिका और चीन से पीछे रह गया है। पिछले साल भारत में 40 से अधिक स्टार्टअप को यूनिकार्न का दर्जा मिला। 

Source – PIB