Current Details

सॉइल मॉइश्चर एक्टिव पैसिव (एसएमएपी) उपग्रह

<div> &raquo;&nbsp; अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा एक उपग्रह लॉन्च करेगी जिससे विश्वभर में सूखे पर नजर रखने वाली प्रणाली में सुधार होगा।&nbsp;</div> <div> &raquo;&nbsp; सॉइल मॉइश्चर एक्टिव पैसिव (एसएमएपी) उपग्रह विश्वभर में मिट्टी में मौजूद नमी की वास्तविक तस्वीर पेश करने में मदद करेगा।</div> <div> &raquo;&nbsp; डेल्टा-2 रॉकेट, इस उपग्रह को लेकर अंतरिक्ष में जाएगा।</div> <div> &raquo;&nbsp; मिट्टी में नमी की मात्रा से सूखे की गंभीरता का अंदाजा लगाया जाता है। इससे स्थानीय मौसम पर भी असर पड़ता है।</div> <div> &raquo;&nbsp; यह उपग्रह भू-विज्ञान के लिए काफी उत्साहजनक है।</div> <div> &raquo;&nbsp; उपग्रह से प्राप्त आंकड़ों में धरती की सतह की दो इंच की मिट्टी में मौजूद नमी का पता हर दो या तीन दिन में चल पाएगा।&nbsp;</div> <div> &raquo;&nbsp; इस मिशन में तीन साल का वक्त लगेगा, जिसमें 5770.8 करोड़ रुपए का खर्च आने की संभावना है।&nbsp;</div> <div> &raquo;&nbsp; मृदा में नमी का पता लगने से किसानों को मदद मिलेगी, जो सिंचाई के लिए बारिश पर निर्भर करते हैं।</div> <div> &nbsp;</div>

Back to Top