Current Details

विश्वविद्यालयों में खुलेंगे 100 दीनदयाल उपाध्याय कौशल केंद्र

&raquo;&nbsp;युवाओं को कौशल विकास के माध्यम से रोजगार मुहैया कराने के लिए सरकार विश्वविद्यालयों में दीनदयाल उपाध्याय कौशल केंद्र योजना के तहत 100 केंद्र स्थापित करेगी।<br /> <br/>&raquo;&nbsp;इनकी स्थापना 12वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान 2017 तक की जाएगी।<br /> <br/>&raquo;&nbsp;ये संस्थान गैर सरकारी संगठनों और उद्योग जगत की भागीदारी के आधार पर चलेंगे।<br /> <br/>&raquo;&nbsp;सरकार देश के प्रत्येक जिले और लोकसभा क्षेत्र में कौशल विकास की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी दिशा में कदम बढ़ाते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने दीनदयाल उपाध्याय कौशल केंद्र योजना शुरू की है जिसके तहत 12वीं पंचवर्षीय योजना में ऐसे 100 केंद्रों की स्थापना की जाएगी।<br /> <br/>&raquo;&nbsp;इसके लिए दिसंबर, 2014 में दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। एनएएसी से ए ग्रेड प्राप्त कोई भी संस्थान गैर सरकारी संगठनों और उद्योग जगत की मदद से इस तरह के कौशल विकास केंद्र स्थापित कर सकता है। यूजीसी इसके लिए पांच करोड़ रुपये अनुदान भी देगा। इससे युवाओं को प्रशिक्षित कर रोजगार दिलाने में मदद मिलेगी। <br/><br /> <strong><span style="color:#800000;">पढ़ाई बीच में छोड़ने वालों के लिए समवय</span></strong><br /> &raquo;&nbsp;सरकार ने &quot;समवय&quot; नाम से एक कार्यक्रम भी शुरू किया है। इससे उन छात्रों को मदद मिलेगी जो अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ देते हैं।<br /> <br/>&raquo;&nbsp;उदाहरण के लिए अगर कोई छात्र नौवीं कक्षा में पढ़ाई छोड़ देता है और उसके बाद तीन साल का कौशल प्रशिक्षण हासिल कर लेता है तो वह उसके आधार पर ही डिग्री कोर्स में दाखिला पाने के योग्य होगा।<br /> &raquo;&nbsp;सरकार कौशल विकास और उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए देश के विभिन्न भागों में 2500 कौशल विकास संस्थान स्थापित करेगी।<br />

Back to Top