Current Details

भारतीय प्रधानमंत्री की यात्रा के दौरान सेशेल्स से ब्लू इकोनॉमी पर सहयोग समेत चार समझौते

<p> &raquo;&nbsp; हिंद महासागर में अपनी भूमिका बढ़ाते हुए भारत ने सेशेल्स के साथ चार समझौतों पर हस्ताक्षर किए।<br /> <br /> &raquo;&nbsp;प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सेशेल्स के राष्ट्रपति जेम्स एलिक्स माइकल की मौजूदगी में इन समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए। तीन देशों की यात्रा पर निकले मोदी सबसे पहले सेशेल्स पहुंचे थे।<br /> <br /> &raquo;&nbsp;सेशेल्स को विश्वसनीय मित्र और रणनीतिक भागीदार बताते हुए भारतीय प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सुरक्षा साझेदारी मजबूत है। इसने क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा की साझा जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए हमें सक्षम बनाया है। हिंद महासागर के द्विपक्षीय देशों के साथ मजबूत संबंध भारत की सुरक्षा एवं प्रगति के लिए आवश्यक है।<br /> <br /> &raquo;&nbsp;सेशेल्स ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का समर्थन किया है।<br /> <br /> <strong><span style="color:#800000;">भारत की तटीय निगरानी रडार परियोजना</span></strong><br /> &raquo;&nbsp; राष्ट्रपति माइकल के साथ चर्चा के बाद प्रेस वार्ता में भारतीय प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत सेशेल्स को दूसरा ड्रोनियर विमान देगा। भारत ने यहां पर तटीय निगरानी रडार परियोजना शुरू की है और इसे दोनों देशों के बीच सहयोग का एक और प्रतीक करार किया।<br /> <br /> <strong><span style="color:#800000;">इन क्षेत्रों में हुए समझौते / ब्लू इकोनॉमी पर सहयोग</span></strong><br /> &raquo;&nbsp;दोनों देशों के बीच जल सर्वेक्षण, अक्षय ऊर्जा तथा बुनियादी ढांचे के विकास में सहयोग के अलावा नेविगेशन चार्ट और इलेक्ट्रॉनिक नेविगेशन चार्ट बनाने पर समझौते हुए।<br /> <br /> &raquo;&nbsp;दोनों नेता प्राकृतिक संसाधनों से अर्थव्यवस्था मजबूत करने के लिए ब्लू इकोनॉमी पर सहयोग बढ़ाने के लिए संयुक्त कार्य समूह गठित करने पर भी राजी हुए।<br /> <strong><span style="color:#800000;">तीन महीने तक मुफ्त वीजा</span></strong><br /> &raquo;&nbsp;प्रधानमंत्री ने सेशेल्स के नागरिकों के लिए तीन माह का मुफ्त वीजा और आगमन पर वीजा प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि सेशेल्स और भारत के लोग विकास में योगदान देने और आपसी समझ बढ़ाने के लिए एक-दूसरे के देशों की यात्रा करें।<br /> <br /> <strong><span style="color:#800000;">जलवायु परिवर्तन पर जताई चिंता</span></strong><br /> &raquo;&nbsp;एक कार्यक्रम में मोदी ने जलवायु परिवर्तन के कारण छोटे द्वीपीय देशों पर मंडरा रहे खतरों का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत जलवायु परिवर्तन के खिलाफ मुहिम में अपनी जिम्मेदारियों के प्रति पूरी तरह जागरूक है।<br /> <br /> &raquo;&nbsp;भारत अपनी इसी जिम्मेदारी के निर्वहन के लिए अक्षय ऊर्जा और सार्वजनिक परिवहन के साधनों को बढ़ावा दे रहा है।<br /> <br /> <span style="color:#696969;">Note:- सेशेल्स की 90 हजार की आबादी में 10 फीसद भारतीय मूल के लोग हैं।</span></p>

Back to Top