Current Details

स्मार्ट सिटी में राज्य व स्थानीय निकायों की भूमिका अहम

<p> &raquo;&nbsp; स्मार्ट सिटी परियोजना की सफलता में राज्यों व शहरी स्थानीय निकायों की भूमिका अहम होगी। पब्लिक-प्राइवेट-पीपुल्स पार्टनरशिप से स्मार्ट सिटी को बनाने में मिलने वाली सफलता से संसाधनों की चुनौती से निपटा जा सकेगा।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; टेक्नोलॉजी प्लेटफार्म अपनाकर पारदर्शिता और दायित्व सुनिश्चित किया जा सकता है। सेवाओं की ऑनलाइन डिलिवरी सुनिश्चित होनी चाहिए।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; स्मार्ट टेक्नोलॉजी से सक्षम ऊर्जा, यातायात ठोस कचरा व कचरे से धन प्रबंधन, रियल टाइम सूचना और सेवा डिलिवरी में मदद मिलेगी।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; लोगों को शहर के विकास में साझेदारी के लिए स्मार्ट बनना होगा।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; सेवाओं में मूल्यवर्धन के लिए उन्हें भुगतान के लिए तैयार रहना होगा। तभी स्मार्ट सिटी रहने लायक, काम करने लायक और समावेशी हो सकेगी।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; स्मार्ट सिटी बनाने में राज्यों व शहरी निकायों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। इसके लिए केंद्रीय वित्तीय सहयोग भी मिलता रहेगा। स्मार्ट सिटी बनने के इच्छुक शहरों को सिटी चैलेंज स्पर्धा में शामिल होना होगा। इसी स्पर्धा में शहरों की स्मार्ट सिटी बनने की क्षमता व योग्यता का मूल्यांकन होगा।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; वर्तमान में स्वच्छता के अभाव में प्रत्येक वर्ष डायरिया से 18 लाख लोग मर रहे हैं। 80 फीसद बीमारियां जलजनित हैं। 19 प्रतिशत शहरी घरों में शौचालय नहीं है। स्वच्छता के बारे में लोगों की मानसिकता बदलने के लिए व्यापक जागरूकता अभियान की आवश्यकता है।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; शहरी क्षेत्र के चार नए कार्यक्रमों स्वच्छ भारत मिशन, स्मार्ट सिटी, 500 शहरों का ढांचागत विकास और विरासत विकास योजना को शुरू किया गया है।<br /> &nbsp;</p>

Back to Top