Current Details

आरोग्य भारत 2015 रिपोर्ट

<p> &raquo;&nbsp;नेटहेल्थ संस्था की रिपोर्ट &quot;आरोग्य भारत 2015&quot; के मुताबिक देश में स्वास्थ्य क्षेत्र में 30 खरब डॉलर के निवेश की जरूरत है। इससे वर्ष 2025 तक 1.5 से दो करोड़ रोजगार निर्मित होंगे।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; नेटहेल्थ हेल्थकेयर, मेडिकल टेक्नोलॉजी, डायग्नोस्टिक सर्विस प्रोवाइडर्स और हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों की संस्था है, जिसकी स्थापना हेल्थकेयर क्षेत्र की पहुंच और गुणवत्ता बढ़ाने के लिए की गई है।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; रिपोर्ट के अनुसार देश में 70 फीसद आबादी के पास किसी तरह का कोई स्वास्थ्य बीमा नहीं है। इसके अलावा देश में स्वास्थ्य सेवाओं की कमी का आलम यह है कि वैश्विक मानक के मुकाबले यहां 20 लाख हॉस्पिटल बेड्स कम हैं।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2025 तक देश में स्वास्थ्य क्षेत्र पर कुल खर्च जीडीपी के छह फीसद तक पहुंचने की उम्मीद है।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; इस दौरान निजी बीमा क्षेत्र शीर्ष आय वर्ग के लोगों में 25 फीसद की सालाना वृद्धि दर के साथ विकास करेगा। वहीं सार्वजनिक बीमा से देश की 60 फीसद आबादी को जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; नेटहेल्थ ने सरकार से स्वास्थ्य क्षेत्र पर सार्वजनिक खर्च बढ़ाकर जीडीपी का 2.5 से तीन फीसद करने की मांग की है। इसके अलावा सरकार को भुगतान पर ध्यान केंद्रित करने की सलाह दी गई है, न कि सेवाप्रदाता बनने की।</p> <p> <br /> &raquo;&nbsp; क्षेत्र के संबंध में श्वेत पत्र के रूप में पेश की गई इस रिपोर्ट में हेल्थकेयर क्षेत्र की अहम भूमिकाओं में टैलेंट उपलब्ध कराने, आयुष (आयुर्वेद, योग, नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्धा और होम्योपैथी) को पुनर्जीवित करने और शिक्षा में निजी निवेश को बढ़ावा देने का सुझाव दिया गया है।<br /> &nbsp;</p>

Back to Top