Current Details

विश्व कैंसर दिवस:-कैंसर उपचार की तकनीक और इलाज़

<div> &raquo;&nbsp; कैंसर के प्रति लोगों में जागरूकता और इलाज की नई पद्घतियों के आने से कैंसर से होने वाली मौतों की संख्या में कमी आ रही है।&nbsp;</div> <div> &raquo;&nbsp; कैंसर से मुक्ति पा चुके मरीजों का मानना है कि सकारात्मक सोच एकमात्र तरीका है जिससे इस बीमारी से जल्द ही छुटकारा मिल सकता है।</div> <div> &nbsp;</div> <div> <strong>नई तकनीकें काफी उपयोगी</strong></div> <div> &raquo;&nbsp;<span style="color:#800000;">इम्यूनोथैरेपीः </span>इसमें शरीर की प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) बढ़ाई जाती है। यह शरीर में कैंसर कोशिकाओं के फैलने को बंद या धीमा कर सकता है।</div> <div> &raquo;&nbsp;<span style="color:#800000;">टारगेटेड थैरेपीः</span> इसमें कीमोथैरेपी और क्लोन का संयुक्त रूप से प्रयोग होता है। इसमें टिश्यू की पहचान के बाद सीधे वहीं दवा और कीमोथैरेपी पहुंचाई जाती है।</div> <div> &raquo;&nbsp;<span style="color:#800000;">एफटीआर-2:</span> यह दवा ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में काफी मददगार साबित हुई है। इसमें कैंसर को खत्म करने की 60 से 70 प्रतिशत सफलता हासिल है।</div> <div> &raquo;&nbsp;<span style="color:#800000;">पेरटूजुनैब :</span> इस थैरेपी के तहत यह दवा सीधे कैंसरग्रस्त टिश्यू तक पहुंचाकर उसे खत्म करने की मदद करती है।</div> <div> &nbsp;</div> <div> <strong>प्राचीन भारतीय पद्धतियां भी कारगर</strong></div> <div> &raquo;&nbsp;<span style="color:#800000;">आयुर्वेदः</span> पांच हजार साल से ज्यादा पुरानी आयुर्वेदिक चिकित्सा भी कैंसर को दूर करने में कारगर साबित हुई है। कीमोथैरेपी जैसी किसी अन्य थैरेपी के साथ भी आयुर्वेदिक इलाज जारी रह सकता है।</div> <div> &raquo;&nbsp;<span style="color:#800000;">नेचरोपैथीः</span> इससे कैंसर के साइड इफेक्ट्स और सेल्स के बढ़ने की संभावनाएं बेहद कम हो जाती हैं।</div> <div> &nbsp;</div> <div> <strong>ऐसे बचें कैंसर से</strong></div> <div> &raquo;&nbsp; सुबह 10 से दोपहर 4 बजे तक शरीर अच्छे से ढंके और फिर ही बाहर निकले। इससे आप हानिकारक किरणों से बच सकते हैं।</div> <div> &raquo;&nbsp; अपने भोजन में फलों, सब्जियों और ओमेगा 3 देने वाली चीजों को शामिल करें। कम फैट और तैलीय भोजन से बचें।</div> <div> &raquo;&nbsp; 90 फीसदी कैंसर होने के कारणों में एक्सरसाइज न करना भी शामिल है। रोजाना कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज करें। इससे बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी सुधरती है।</div> <div> &raquo;&nbsp; शराब और धूम्रपान से दूरी-10 प्रकार के कैंसर केवल शराब के सेवन से ही होते हैं। जबकि 3 में से 1 धूम्रपान करने वाले व्यक्ति को कैंसर हो जाता है।</div> <div> &raquo;&nbsp; सुरक्षित संबंधों को प्राथमिकता दें। इससे सर्वाइकल समेत कई कैंसर होने की संभावना कम हो जाती है।</div> <div> &nbsp;</div>

Back to Top