प्रधानमंत्री जन धन योजना से प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण

प्रधानमंत्री जन धन योजना से प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण

»  सरकार के अनुसार देश के 99 फीसद परिवारों का बैंक खाता खुलने से न सिर्फ सब्सिडी का बोझ कम होगा, बल्कि स्कीमों को सीधे आम जनता तक पहुंचाने का रास्ता भी खुलेगा।


»  एक आकलन के मुताबिक अगले वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान ही सरकार इन बैंक खातों के जरिये 66,000 करोड़ रुपये की राशि वितरित करेगी। इसमें से 33,000 करोड़ रुपये की राशि मनरेगा के तहत काम करने वालों को बांटे जाएंगे।


»  लगभग 18,000 करोड़ रुपये की राशि बतौर एलपीजी सब्सिडी सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।


»  इसके अलावा पेंशन व छात्रवृति के मद में 15 हजार करोड़ रुपये बांटे जाएंगे।


»  देश में एलपीजी सब्सिडी सीधे बैंक खाते का काम चालू हो चुका है। अभी तक 8.03 करोड़ एलपीजी ग्राहकों के बैंक खाते में पैसे जाने शुरू हो चुके हैं। शेष बचे लगभग 7.50 करोड़ अन्य ग्राहकों के बैंक खाते में भी सब्सिडी की राशि अगले तीन महीनों के बीच जानी शुरू हो जाएगी। अगर सब्सिडी मौजूदा स्तर पर ही बनी रहती है तो इस वर्ष 17,777 करोड़ रुपये की राशि प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खुले खातों के जरिये जाने लगेगी।


»  इसके अलावा मनरेगा के तहत 10 करोड़ श्रमिकों के खाते में 33 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर भी होने लगेंगे। इन दोनों के अलावा पेंशन और छात्रवृत्ति ट्रांसफर का काम भी तेज होगा। इन दोनों मद में चालू वित्त वर्ष के दौरान भी 20,000 करोड़ रुपये सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में जाएंगे।


»  चालू वित्त वर्ष के दौरान पेंशन मद में 9,690 करोड़ रुपये और छात्रवृत्ति के मद में 5,756 करोड़ रुपये की राशि दी जा रही है।
 

Back to Top