राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (आरएसबीवाई) में संसोधन

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (आरएसबीवाई) में संसोधन

»  असंगठित क्षेत्र के कामगारों को अस्पताल में भर्ती होने पर अब 50 हजार रुपए तक का इलाज मुफ्त मिल सकेगा।


»  राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (आरएसबीवाई) के तहत मिलने वाले स्वास्थ्य बीमा की रकम मौजूदा 30 हजार से बढ़ाकर 50 हजार रुपये की गयी है।


नए प्रावधानों के साथ इसे श्रम मंत्रालय की बजाय अब स्वास्थ्य मंत्रालय चलाएगा।


»  स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक वर्ष 2008 से चल रही इस योजना में एक अप्रैल से बीमा कवरेज की रकम बढ़ जाएगी। साथ ही इसमें निजी बीमा कंपनियों की भूमिका खत्म कर दी जाएगी।


»  राज्य सरकारों को अपनी एजेंसी बनाकर बीमा कंपनी का काम करना होगा। यही एजेंसी निगरानी करेगी कि इस योजना के तहत निजी अस्पताल जरूरत के मुताबिक सुविधाएं मुहैया करवा रहे हैं या नहीं। जो राज्य ऐसा नहीं कर सकेंगे, उन्हें सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनियों की सेवा लेने की छूट होगी।


»  केंद्र में इस योजना को स्वास्थ्य मंत्रालय चलाएगा, लेकिन राज्यों को यह छूट होगी कि अगर वे चाहें तो इसे पहले की तरह श्रम मंत्रालय के ही पास रहने दे सकते हैं।


»  इसी तरह जो राज्य अपने सभी नागरिकों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करवा रहे हैं, उन्हें भी इसके साथ जुड़ने की सुविधा दी गई है। ऐसी स्थिति में राज्य सरकार को आरएसबीवाई के तहत आने वाले व्यक्तियों के प्रीमियम की रकम केंद्र देगी। इससे योजनाओं का दोहराव नहीं होगा।


»  अब तक 3.7 करोड़ लाभार्थियों के स्मार्टकार्ड बन चुका है।
 

Back to Top