एफसीआई के पुनर्गठन के लिए गठित शांता कमेटी की रिपोर्ट

एफसीआई के पुनर्गठन के लिए गठित शांता कमेटी की रिपोर्ट

 

»  एफसीआई के पुनर्गठन के लिए गठित शांता कुमार कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी।


»  समिति ने लाभार्थियों के खातों में सीधे पैसे भेजने का सुझाव दिया है। इसके अलावा चावल और गेहूं की सरकारी खरीद का जिम्मा राज्यों को सौंपने की भी सिफारिश की गई है।


»  भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) की कार्य प्रणाली को सरल, सहज और लाभकारी बनाने के लिए प्रधानमंत्री ने पूर्व खाद्यमंत्री शांता कुमार की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय कमेटी का गठन किया था।


»  आठ सदस्यीय कमेटी ने प्रधानमंत्री को सौंपी रिपोर्ट में एफसीआइ के मौजूदा ढांचे में बदलाव करने, कार्य प्रणाली में संशोधन के साथ उसे तीन हिस्सों में बांटने जैसे प्रस्तावों पर अपनी सिफारिशें दी हैं।


»  20 अगस्त को गठित इस समिति में विभिन्न क्षेत्र के जाने-माने विशेषज्ञों को शामिल किया गया था।


»  न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीद, अनाज के भंडारण और राज्यों की राशन प्रणाली को संचालित करने का दायित्व एफसीआइ के कंधे पर है। कमेटी ने इसे अलग-अलग हिस्सों में बांटकर कंपनियां बनाने की सिफारिश की है।


»  एफसीआइ के मौजूदा प्रशासनिक ढांचे की खामियों का पता लगाने और उसका विकल्प सुझाने की जिम्मेदारी कमेटी को दी गई थी।


 

Back to Top