ई-पासपोर्ट सेवा

- देश में ई-पासपोर्ट सेवा अगले साल तक शुरू हो सकती है। इस नई सेवा से आवेदकों को सहूलियत होगी। - 2015-16 तक आवेदकों को ई पासपोर्ट मिलने शुरू हो जाएंगे। ई-पासपोर्ट में माइक्रोप्रोसेसर चिप लगी रहेगी और इसे बायोमेट्रिक या डिजिटल पासपोर्ट के रूप में भी जाना जाएगा। 

- मंत्रालय इस योजना पर काम कर रहा है और इससे संबंधित जरूरी अधिसूचना जारी की जा चुकी है।"

- पिछले साल चीन और अमेरिका के बाद भारत ने सबसे अधिक पासपोर्ट जारी किए थे। इस साल 20 फीसद वृद्धि की बढ़ोतरी का लक्ष्य रखा गया है।

- अकेले केरल में गत वर्ष दस लाख से अधिक पासपोर्ट के लिए आवेदन किए गए थे, जो दूसरे राज्यों के मुकाबले सबसे अधिक है।

- चालू वित्त वर्ष में इस साल मार्च तक पासपोर्ट से सरकार को लगभग दो हजार करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्ति की उम्मीद है।  

Back to Top