गणतंत्र दिवस पर किसी राष्ट्रप्रमुख को बतौर मेहमान आमंत्रित करने का इतिहास

- गणतंत्र दिवस पर किसी राष्ट्रप्रमुख को बतौर मेहमान आमंत्रित करने की प्रथा 1950 में शुरू हुई थी। तब इंडोनेशिया के राष्ट्रपति देश के पहले ऐसे मेहमान बने थे।  - इसी क्रम को जारी रखते हुए इस बार प्रधानमंत्री ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को आमंत्रित किया है।

 

-इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो 1950 में गणतंत्र दिवस पर होने वाले कार्यक्रम के पहले विशिष्ठ अतिथि थे।

- साल 1951, 1952, 1953 में कोई विदेशी मेहमान नहीं आया।

- वर्ष 1994 में भूटान के किंग जिग्‍मे दोरजी वांगचुक भारत आए।

- पाकिस्तान से केवल दो बार मेहमान भारत आए हैं। गवर्नर जनरल मलिक गुलाम मोहम्मद (1955) और मंत्री राणा अब्दुल हमीद (1965) में।

- वर्ष 1956, 1957, 1958, 1959 में कोई विदेशी मेहमान नहीं आया।

- वर्ष 1960 में सोवियत संघ के राष्‍ट्रपति क्‍िलमेंट वोरोशिलोव आए थे।

- 1961 में रानी एलिजाबेथ बनी थीं मुख्य अतिथि।

- वर्ष 1962 में कोई अतिथि नहीं आया। 1963 में कंबोडिया के किंग नोरोदोम सिहानोक यहां आए थे।

- वर्ष 1964, 1966, 1967 में भी कोई विदेशी अतिथि नहीं आया।

- 1968 में सोवियत संघ के प्रधानमंत्री एलेक्स कोसयगिन को आमंत्रित किया गया था।

- 1969 में बुल्‍गारिया के प्रधानमंत्री तोदोर जिवकोव आए थे।

- 1971 में तंजानिया के राष्‍ट्रपति जूलियस येरेरे आए थे।

- 1972 में मॉरीशस सके प्रधानमंत्री सिवोसागर रामगुलाम मुख्‍य अतिथि थे।

- 1973 में जैरे के राष्‍ट्रपति मोबूतू सेसे सेको भारत आए थे।

- 1974 में यूगोस्‍लोवाकिया के राष्‍ट्रपति जोसिप ब्रोज टिटो मेहमान बनकर आए थे।

- 1975 में जांबिया के राष्‍ट्रपति केनेथ कौंदा अतिथि के रुप में भारत आए थे।

- 1976 में फ्रांस के प्रधानमंत्री के रूप में, और फिर 1998 में राष्‍ट्रपति के रूप में जैक शिराक भारत आए थे। इसके अलावा 1980 में राष्‍ट्रपति वैलेरी गिस्‍कार्ड और 2008 में निकोलस सरकोजी मेहमान बनकर आए थे।

-1977 में पोलैंड के फर्स्‍ट सेक्रेटरी एडवर्ड गिरेक पधारे थे।

- 1978 में आयरलेंड के राष्‍ट्रपति पैट्रिक हिलेरी भाारत आए थे। 1979 में ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मालकोम फ्रेजर आए थे। 1981 में मैक्‍िसको के राष्‍ट्रपति जोस लोपेज पोर्टिलो आए थे। 1982 में स्‍पेन के किंग जुआन कार्लोस 1 आए थे। 1983 में नाइजीरिया के राष्‍ट्रपति शेहू शागरी आए थे। 1984 में भूटान के किंग जिग्‍मे सिंग्‍ये वांगचू भारत आए। 1985 में अर्जेन्‍टीना के राष्‍ट्रपति राउल अल्‍फोन्सिन भारत आए। 1986 में ग्रीस के प्रधानमंत्री आंद्रेस पापान्‍ड्रू मेहमान बनकर आए। 1987 पेरू के राष्‍ट्रपति एलेन गार्सिया अतिथि थे। 1988 में श्रीलंका के राष्‍ट्रपति जूनिस जयवर्द्घने आए थे। 1989 में वियतनाम के जनरल सेक्रेट्री ग्‍यूयेन वान लिन्‍ह आए थे। 1990 में मॉरीशस के प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जुगनॉथ आए थे। 1991 में मालदीव के राष्‍ट्रपति मौमून अब्‍दुल गयूम आए थे। 1992 में पुर्तगाल के राष्‍ट्रपति मार्लो सोरेस आए थे। 1993 में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉन मेजर आए। 1994 में सिंगापुर के प्रधानमंत्री गोह चोक टोंग आए। 1995 में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति नेलसन मेंडेला मेहमान बने थे। तब राष्ट्रपति बने उन्हें एक साल ही हुआ था। 1996 में ब्राजील के राष्‍ट्रपति डॉक्‍टर फर्नान्‍डो हेनरिक कॉर्डोसो और 2004 में राष्‍ट्रपति लुइज इनाशियो लूला डिसिल्‍वा आए। 1997 में त्रिनिदाद एंड ताबागो के प्रधानमंत्री बासदेव पांडे आए। 1999 में नेपाल के किंग बिरेंद्र बीर बिक्रम शाह देव आए। 2000 में नाइजीरिया के राष्‍ट्रपति ऑलूसेगन ओबासांजो आए। 2001 में अल्‍जीरिया के राष्‍ट्रपति अब्‍देलाजीज बुतेफिका आए। 2002 में मॉरीशस के राष्‍ट्रपति कासेम उतीम भारत आए थे। 2003 में ईरान के राष्‍ट्रपति मोहम्‍मद खातामी मुख्‍य अतिथि बने थे। 2004 : ब्राजील के राष्ट्रपति 2005 में भूटान नरेश को आमंत्रित किया गया था। 2006 में सउदी अरब के राजा अब्दुल्ला बिन अब्दुल्लाअजीज रंगारंग कार्यक्रम के साक्षी बने थे। 2007 में रूसी राष्ट्रपति वलादिमीर पुतिन ने गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लिया था। 2008 : फ्रांस के राष्ट्रपति 2009 में कजाकिस्‍तान के राष्‍ट्रपति नूरसुल्‍तान नजरबायेव भारत आए। 2010 में कोरिया के राष्‍ट्रपति ली म्‍यंक बाक आए। 2011 में इंडोनेशिया के राष्‍ट्रपति सुसीलो बामबांग युधोयोनो भारत आए। 2012 में इंडोनेशिया के प्रधानमंत्री यिंगलुक शिनवात्रा भारत आए । 2013 : भूटान के राजा 2014 : जापान के प्रधानमंत्री I  

Back to Top