योग पर भारत के प्रस्ताव को 130 देशों का समर्थन

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाए जाने की अपील को जबर्दस्त समर्थन मिल रहा है।

 

- संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग को मान्यता दिलाने के भारत केप्रस्ताव को करीब 130 देशों से सह प्रायोजक के तौर पर समर्थन मिला है।

 

- "अंतरराष्ट्रीय योग दिवस" संबंधी इस प्रस्ताव का मसौदा भारत ने तैयार किया है। पिछले महीने संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारतीय मिशन ने इस पर अनौपचारिक चर्चा का आयोजित की थी। इसमें प्रतिनिधियों ने अपने विचार प्रकट किए थे।

 

- इस मसौदे को 130 देशों के सह-प्रायोजक के साथ अंतिम रूप दिया गया है। इस प्रकार के किसी प्रस्ताव को इतना समर्थन एक रिकार्ड है।

 

- उम्मीद है कि दस दिसंबर को प्रस्ताव पारित कराने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा में लाया जाएगा। इसके पारित होने पर योग से स्वास्थ्य की दृष्टि से होने वाले लाभों को मान्यता मिल जाएगी। 

 

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा में वैश्विक नेताओं से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का आह्वान किया था। 

 

- प्रस्ताव में 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मान्यता देने की भी बात है।

 

पक्ष में ताकतवर देश भी भारत के प्रस्ताव को समर्थन देने वालों में सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्य चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं।

 

- इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, जर्मनी, जापान, दक्षिण अफ्रीका, मेक्सिको, इजरायल, स्पेन, बांग्लादेश, श्रीलंका, भूटान, नेपाल, ईरान, इराक, मिस्र और म्यांमार जैसे देशों ने भी समर्थन दिया है।  

Back to Top