लैंगिक असमानता देश के विकास में बाधक : रिपोर्ट

- देश में लैंगिक असमानता बड़ी समस्या का रूप लेता जा रहा है। इसका सीधा असर देश के विकास पर पड़ रहा है।केंद्र सरकार की एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। - इस रिपोर्ट में शिक्षा के क्षेत्र में लैंगिक असमानता पर प्रकाश डाला गया है। रिपोर्ट बताती है कि देश में प्रगतिशील शिक्षा नीति होने के बावजूद लैंगिक असमानता कैसे सभी वर्गों, जातियों और समुदायों के बीच गहराई से जड़ें जमा चुकी है। यह देश के विकास में रोड़ा है।

 

- रिपोर्ट के मुताबिक, "शिक्षा के क्षेत्र में सार्वभौमीकरण, समानता और गुणवत्ता के लक्ष्यों की दिशा में हुई प्रगति के लिए यह मुद्दा बहुत बड़ी चुनौती हैं।"  शिक्षा, आय और रोजगार में इस तरह की असमानता देश के विकास में बाधक है।

 

- लैंगिक असमानता और महिला सशक्तीकरण पर सोमवार को बैंकॉक में शुरू हुए सम्मलेन में केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी इस रिपोर्ट को पेश करेंगी। सम्मेलन 20 नवंबर तक चलेगा।

 

- सरकार की यह रिपोर्ट न केवल शिक्षा के क्षेत्र में लैंगिक असमानता की पोल खोलती है बल्कि महिलाओं, किशोरियों और बच्चियों के खिलाफ होने वाली हिंसा व भेदभाव को भी सामने लाती है।  

Back to Top