भारत आतंक से ग्रसित देशों की सूची में छठे स्थान पर :

- नक्सली हिंसा के कारण भारत आतंक से ग्रसित देशों की सूची में छठे स्थान पर है। पिछले हफ्ते जारी "ग्लोबल टेरर इंडेक्स" के अनुसार भारत में 2013 में कुल हिंसक हमलों में नक्सलियों का योगदान आधे से ज्यादा है।

 

- वहीं, दुनियाभर में कुल आतंकी हिंसा में 82 फीसद इराक, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, नाइजीरिया और सीरिया तक सीमित है। यही नहीं, कुल आतंकी हिंसा के 80 फीसद के लिए सिर्फ चार आतंकी संगठन जिम्मेदार हैं।

 

- भारत आतंकी हिंसा से ग्रस्त देशों की सूची में भले ही छठे स्थान पर हो, लेकिन 2002 से तुलना करने पर इसमें लगभग 90 फीसद कमी साफ देखी जा सकती है। मौजूदा हिंसा में नक्सलियों का योगदान सबसे ज्यादा है।

 

- पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन भारत में सिर्फ 15 फीसद आतंकी हिंसा के लिए जिम्मेदार हैं जबकि पूर्वोत्तर में सक्रिय अलगाववादी गुट 16 फीसद हिंसा के लिए।

 

- ग्लोबल टेरर इंडेक्स के अनुसार दुनिया के एक तिहाई देश आतंकी हिंसा के शिकार हैं। 2013 के दौरान 60 देशों में आतंकी हमलों में कुल 17,958 लोग मारे गए थे।

 

- अमेरिका के इंस्टीट्यूट फॉर इकोनॉमिक्स एंड पीस द्वारा तैयार इस रिपोर्ट के अनुसार 80 फीसद आतंकी हिंसा के लिए केवल चार आतंकी संगठन जिम्मेदार हैं।

 

- इनमें अलकायदा, आइएस, तहरीक-ए-तालिबान और बोको हराम शामिल हैं। हैरानी की बात है कि आतंकी हिंसा का गरीबी और अशिक्षा से कोई सीधा संबंध देखने को नहीं मिला है।

 

ग्लोबल टेरर इंडेक्स में शीर्ष पांच देश इराक अफगानिस्तान पाकिस्तान नाइजीरिया सीरिया

चार आतंकी संगठन 80 फीसद हिंसा के लिए जिम्मेदार अलकायदा आइएस तहरीक-ए-तालिबान बोको हराम  

Back to Top