सेल्फ-अटेस्टेड डॉक्युमेंट स्वीकार करेगी सरकार

- अब सरकारी कामकाज के लिए जमा कराए जाने वाले कागजात को किसी गैजटेड ऑफिसर या नोटरी से अटेस्ट करवाए जाने की जरूरत नहीं होगी। 

 

- सरकार अब सेल्फ अटेस्टेड डॉक्युमेंट्स यानी खुद ही अटेस्ट किए गए कागजात को बढ़ावा देगी। - यह कदम दूसरे ऐडमिनिस्ट्रेटिव रिफॉर्म्स कमिशन की 12 वीं रिपोर्ट 'सिटिजन सेंट्रिक ऐडमिनिस्ट्रेटिव- द हार्ट ऑफ गवर्नेंस' की सिफारिशों पर उठाया गया है। 

 

- कमिशन ने कहा था कि सेल्फ-सर्टिफिकेशन के प्रावधान को बढ़ावा देना चाहिए और अटेस्टेशन की प्रक्रिया आसान की जानी चाहिए। - 'इस बात से संज्ञान लेते हुए कई मंत्रालयों और राज्य सरकारों ने मार्कशीट, बर्थ सर्टिफिकेट वगैरह के लिए गैजटेड ऑफिर्स द्वारा अटेस्ट की गई कॉपीज या ऐफिडेविट्स की जगह सेल्फ-सर्टिफिकेशन को स्वीकार कर लिया है।'

 

- सेल्फ अटेस्टेशन नागरिकों के लिए सुविधानजक है। कॉपीज अटेस्ट करवाने या ऐफिडेविट बनवाने के लिए न सिर्फ पैसे खर्च करने पड़ते हैं, बल्कि इसमें नागरिकों और सरकारी अधिकारियों का टाइम भी वेस्ट होता है।

Back to Top