सियाचिन हिमनद(ग्लेशियर)

- सियाचिन ग्लेशियर या सियाचिन हिमनद हिमालय पूर्वी कराकोरम रेंज में भारत-पाक नियंत्रण रेखा के पास लगभग देशान्तर:७७.१० पूर्व, अक्षांश: ३५.४२ उत्तर पर स्थित है।

- यह काराकोरम के पांच बडे हिमनदों में सबसे बड़ा और विश्व का दूसरा सबसे बड़ा हिमनद है। 

- समुद्र तल से इसकी ऊँचाई इसके स्रोत्र इंदिरा कोल पर लगभग ५,७५३ मीटर और अंतिम छोर पर ३,६२० मीटर हैI

- यह लगभग ७० किमी. लम्बा है। निकटवर्ती क्षेत्र बाल्टिस्तान की बोली बाल्टी में "सिया" का अर्थ है एक प्रकार का "जंगली गुलाब" और "चुन" का अर्थ है "बहुतायत", इसी से यह नाम प्रचलित हुआ।

- सामरिक रुप से यह भारत और पाकिस्तान के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। 

- यह विश्व का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र है। 

- इस पर सेनाएँ तैनात रखना दोनों ही देशों के लिए महंगा सौदा साबित हो रहा है।

- सियाचिन में भारत के १० हजार सैनिक तैनात हैं, और इनके रखरखाव पर प्रतिदिन ५ करोड़ रुपये का खर्च आता है।

- पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी 2005 में दुनिया के सबसे ऊंचे वॉर जोन सियाचिन का दौरा किया था और इस क्षेत्र को 'माउंटेन ऑफ पीस' में बदलने की इच्छा जताई थी।

Back to Top